computer kya hai

Computer

Computer in Hindi (Computer kya hai)

Computer kya hai hindi में जानने के लिए पूरा पोस्ट पढ़े . कंप्यूटर का नाम तो आज हर कोई जनता है, लेकिन क्या आप जानते है- कंप्यूटर क्या है ? कंप्यूटर की परिभाषा क्या है ? कंप्यूटर के कार्य क्या है ? क्या आप जानते है- Computer के कितने Components होते है ? Computer की विशेषता क्या है ? कंप्यूटर का इस्तेमाल कंहा होता है ?

कंप्यूटर से  सम्बंधित सारी  बातो को जानते है. ताकि आप भी Computer के सभी Future को जान  सके. कंप्यूटर क्या है ? इसको Short में जानते है. Computer ki jankari  के लिए technicalmiki.in के सभी Post को जरुर पढ़े. हमने बस एक कोशिश की है की आपको Computer की सभी बेसिक जानकारी इस पोस्ट में दिया जाये.

computer kya hai
                                                       computer kya hai (computer in hindi)

कंप्यूटर क्या है? (What is Computer) – Computer kya hai

Computer kya hai hindi में – Computer एक स्वचालित इलेक्ट्रॉनिक यन्त्र है, जो user के द्वारा दिए गये डाटा तथा निर्देशो को इनपुट के रूप में ग्रहण करता है, निर्देशों के अनुरूप उनका बिश्लेषण करता है तथा आवश्यक परिणामों को आउटपुट के रूप में निर्गत करता है. यह डाटा निर्देशो तथा परिणामों को store भी करता है ताकि आवश्यकतानुसार इनका उपयोग किया जा सके .

Meaning of computer in Hindi

कंप्यूटर को  हिंदी  में  संगणक  कहा जाता है 

कंप्यूटर की परिभाषा (Computer definition in hindi)

Computer  इस शब्द की उत्पत्ति  Compute  शब्द से हुई है,और इसका मतलब होता है गिनना . आधुनिक मॉडर्न कंप्यूटर का जनक Charles Babbage को माना जाता है क्योकि उन्होंने ही सबसे पहले machenical कंप्यूटर का मॉडल दिया था. “कम्पुटर एक स्वचालित इलेक्ट्रोनिक मशीन है, जो अनेक प्रकार की तर्कपूर्ण गणनाओ के लिए प्रयोग किया जाता है.

Computer एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो इनपुट के रूप में डाटा स्वीकार करता है, और दिए गए निदेशों के अनुरूप डाटा को Proccess कर उसे सुचना में बदलता है तथा Process किये गए परिणाम को  OUTPUT  के रूप में निर्गत करता है.

कंप्यूटर का फुल फार्म (Full form ऑफ़ Computer)

कंप्यूटर का फुल फॉर्म लोगो के द्वारा बनाया गया अपना एक नाम है. वेसे सच कहे तो Computer का use इतने व्यापक रूप से विभिन्न जगहों में होता है की इसको फुल फॉर्म में बाँटना सही नही होगा . इसलिए इसका कोई full फॉर्म नही होता है. पर लोगो ने अपने मतलब से इसको Full फॉर्म में तोड़ दिया है जो इस प्रकार है –

C – Commonly , O – Operated , M – Machine , P – Program / Particularly

U – User      , T – Technical ,  E – Education  and   R – Research  

 

कंप्यूटर के कार्य इस प्रकार है –

  1. डाटा को इनपुट के रूप में स्वीकार करना
  2. Data को प्रोसेस करना
  3. डाटा और सुचना को store करना
  4. सुचना को आउटपुट के रूप में निर्गत करना

   INPUT DATA  …….      PROCESSING ………  OUTPUT DATA   

 

> माउस क्या है ?

> कीबोर्ड क्या है ?

कंप्यूटर सिस्टम के तत्व (Components of computer)

computer basic in hindi  में जानने से पहले आपको पूरा पोस्ट पढना होगा . कंप्यूटर बहुत सारे चीजो से मिलकर बना हुवा है पर हम सिर्फ उसके मुख्य भागो के बारे में ही जानेंगे. कंप्यूटर सिस्टम को मुख्यतः चार भागो में बाँटा जा सकता है –

  1. हार्डवेयर (Hardware)
  2. सॉफ्टवेर (Software)
  3. फर्मवेयर (Firmware)
  4. डाटा (Data)
  • हार्डवेयर (Hardware)

कंप्यूटर सिस्टम का वह Phisical(भोतिक) भाग जिसे हम देख और छू कर महसूस कर सकते है, कंप्यूटर का हार्डवेयर कहलाता है. उदाहरण के लिए – की-बोर्ड, माउस, मॉनिटर, सीपियू , प्रिंटर, मदरबोर्ड, यूपीएस,सीडी, डीवीडी, स्पीकर इत्यादि .

  • सॉफ्टवेर(Software)

निर्देशो और प्रोग्रामो का वह समूह जो सभी हार्डवेयर को नियंत्रित करता है और कंप्यूटर को यह बताता है की उसे क्या और कैसे करना है, सॉफ्टवेर कहलाता है. दुसरे शब्दों में कहे तो प्रोग्रामो के समूह को ,जो कंप्यूटर के बिभिन्य कार्यो के लिए उपयोगी होते है software कहलाते है. इसे हम Phisicaly रूप से देख या छू नही सकते है.

प्रोग्राम (Program) – कंप्यूटर को दिए जाने वाले अनुदेशों के समूह को प्रोग्राम कहते है.

अनुदेश (Instruction) – कंप्यूटर को कार्य करने के लिए दिए जाने वाले आदेशो को    Instruction (अनुदेश) कहते है.

  • फर्मवेयर (Firmware)

कंप्यूटर सिस्टम का वह भाग Phisical / Logical भाग जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेर को आपस में जोड़ता है और कार्य करने का एक जगह बताना है, उसे फर्मवेयर कहते है.

उदाहरण के लिए – दो भिन्न देशो के लोग जो सिर्फ अपनी ही देश की भाषा को जन्हें है वो एक दुसरे से केसे बात करेंगे ? आसन है की दोनों किसी वेसे व्यक्ति को लेकर आयेंगे जो दोनों ही देशो के भाषा का जानकर हो, तो दोनों बड़े ही आसानी से एक दुसरे की बातो को जन लेंगे . ठीक उसी प्रकार हार्डवेयर और सॉफ्टवेर है दोनों अलग अलग है पर Third पार्टी यानि की फर्मवेयर के मद्द से कार्य का संपादन होने देंगे.

  • डाटा Data

Data कच्चे तथ्यों (Raw Facts) और सुचनावो (Information) का अव्यवस्थित ढांचा है जिससे कोई निश्चित परिणाम नही निकाला जा सकता.

इसे दो भागो में बिभाजित किया जा सकता है –

  • संख्यात्मक डाटा (Numerical Data)

इस में मुख्य रूप से अंक आते है जिसमे 0,1,2,3………,9 के अंको का प्रयोग होता है इसका उपयोग गणितीय कार्य के लिए होता है.

  • चिन्हात्मक डाटा (Alphanumeric Data)

इस में मुख्य रूप से अक्षरों तथा चिन्हों का प्रयोग किया जाता है.इसका उपयोग तुलनात्मक कार्य के लिए होता है.

 

 

Computer की बिशेषता (Characteristics of Computer) kya hai

computer का इस्तेमाल उसके निम्नलिखित गुणों के कारण किया जाता है –

  • गति (Speed)

कोई मनुष्य जिस काम को करने में अपना पूरा दिन और महिना निकल देता  है Computer उसी काम को कुछ ही सेकंड या मिनट में कर सकता है. computer नेनो सेकंड में गणनाए कर सकता है. इसके कार्य करने की speed को हर्ट्ज (Hz) में मापा जाता है.

  • स्वचालित (Automatic)

Computer एक स्वचालित machine है, क्योकि एक बार Computer को आदेश देने के बाद वो खुद ही बिना रुके कार्य कर सकता है.

  • त्रुटी रहित कार्य (Accuracy)

Computer किसी भी कार्य को मनुष्य की तुलना में बिना गलती किये सही सही कर सकता है.मानव किसी कार्य को करने में गलती कर सकता है पर Computer गलती रहित कार्य कर सकता है. अगर दिया गया निर्देश और डाटा सही है तो कंप्यूटर में गलती की उम्मीद नहीं रह जाती है.

  • स्थाई भंडारण (Parmanent Storage)

Computer में सूचनाये और data का भंडारण electronic तरीके से होती है इसलिए इसके नष्ट या ख़राब होने की संभावना कम हो जाती है. और इसके भंडारण के लिए कंप्यूटर में मेमोरी का इस्तेमाल किया जाता है.जिसमे असीमित डाटा और सुचनावो का भंडारण किया जा सकता है.

  • विविधता (Versatility)

Computer का इस्तेमाल विभिन्न कार्यो के लिए किया जा सकता है, और कई तरह से इसे उपयोग में लाया जा सकता है. इसके पास हर एक कार्य को करने की Versatility  है.

  • गोपनीयता (Secrecy)

Computer हमें सुचना तथा डाटा तक पहुच बनाने के लिए Sequrity देता है जिसके जरिये हम पासवर्ड लगा कर डाटा को दुसरे user के पहुच से सूरक्षित रख सकते है. मतलब password के प्रयोग से डाटा में गोपनीयता बनाई जा सकती है.

कंप्यूटर के अवगुण (Disadvantage of Computer) क्या है

  1. बुद्धिहीन (No mind)

Computer केवल दिए गए निर्देशो के आधार पर ही कार्य करता है, क्योकि Computer के पास स्वयं की सोचने और निर्णय लेने की शक्ति नही होती है.कंप्यूटर दिए गये निर्देशो पर ही कार्य करता है.

  • खर्चीला (Expensive)

कंप्यूटर एक मशीन है, जो hardware और software के ज़रिये Operates होता है. कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेर काफी महंगे होते है तथा उसे समय समय पर अपग्रेड की आवश्यकता होती है.

  • बिधुत पर निर्भरता (Depends on Electricity)

Computer एक यन्त्र है और उसे चलाने के लिए बिधुत की आवश्यकता होती है, बिना बिधुत के कंप्यूटर कोई कार्य नहीं कर सकता.कंप्यूटर बिधुत पर ही निर्भर है .

कंप्यूटर का वर्गीकरण ( Classification of Computer)

तकनीक के आधार पर Computer को तीन वर्गो में बांटा गया है –

Analog Computer (एनालॉग कंप्यूटर)

समय के साथ परिवर्तित होने वाली Physical राशियों को Analog Computer कहते है. जैसे – तापक्रम, विधुत वोल्टेज, दबाव आदि.एनालॉग कंप्यूटर की गति बहुत धीमी होती है और वो समय के साथ बदलती है वाहन का गति मीटर(Speedo meter), वाल्टमीटर इसका उदहारण है.

signal से ऑपरेट होने वाले यन्त्र भी एनालॉग कंप्यूटर के अंतर्गत आते है.

Digital Computer ( डिजिटल कंप्यूटर)

वो मशीन जो इलेक्ट्रॉनिक संकेतो के Binary system (0,1) को इनपुट के रूप में लेते है तथा इसके help से वो  इनपुट के रूप में Numerical और Alphanumerical value को लेते है और फिर उसका एक आउटपुट भी देते है Digital कंप्यूटर कहलाते है. डिजिटल कंप्यूटर की गति तिव्र होती है.हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले कंप्यूटर Digital कंप्यूटर ही है.

Hybrid Computer (हाइब्रिड कंप्यूटर)

hybrid computer एनालॉग और डिजिटल computer का मिश्रण है जो की गति में डिजिटल कंप्यूटर से भी अधिक तेज होता है इसका उपयोग – अनुसंधान केन्द्रों में होता है.

आकार , कार्य और Capacity के आधार पर Computer को चार वर्गो में बांटा गया है 

Types of Computer 

  • Mini Computer ( मिनी कंप्यूटर)

इस प्रकार के computer आकार में छोटे होते है. इसकी संग्रहण Capacity अधिक होती है. इस प्रकार के Computer में एक साथ कई व्यक्ति कार्य कर सकते है. इसका अविष्कार 1965 में हुवा था.

Use – यात्री आरक्षण, Company, अनुसंधान अदि में.

 

  • Micro Computer (माइक्रो कंप्यूटर)

Micro Computer के प्रोसेसर का आकार मिनी कंप्यूटर से छोटा पर कार्य करने की गति कई गुना ज्यादा होती है. इसका अविष्कार 1970  में  हुआ था. हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले – Desktop Computer, पर्सनल कंप्यूटर, Laptop Computer, Notebook Computer, Tablet तथा Smart Phone माइक्रो कंप्यूटर के ही उदहारण है.

Use –Home, Office, Internet surfing,Multimedia.

 

  • Main Frame Computer (मेन फ्रेम कंप्यूटर)

Main Frame Computer का आकार और कार्य करने क्षमतामाइक्रो कंप्यूटर सेबड़ी और तेज होती है. Micro कंप्यूटर की तुलना में मेन फ्रेम कंप्यूटर की speed और भंडारण क्षमता अधिक होती है. इसे केन्द्रीय या सेंट्रल कंप्यूटर भी कहते है.

Use – As a Server, Bank, Railway, Space Center तथा बड़ी कंपनीयो में होता है.

 

  • Super Computer ( सुपर कंप्यूटर)

Super Computer का आकार और क्षमता अन्य कंप्यूटर की तुलना में काफी बड़ी और तेज होती है. इसमे 1 सेकंड में 10000 या अधिक कार्य किये जा सकते है.

Use – Satelite Center. Research Center.

 

कंप्यूटर का उपयोग (Application of Computer) क्या है हिंदी में

Computer का उपयोग आज के आधुनिक समय में लगभग हर जगह किया जाता है. लोग Computer ka use आजकल अपने हर कम में कही न कही लेते ही है. जिसमे कुछ इस प्रकार है –

  • डाटा प्रोसेसिंग (Data Processing)

जनगणना, परीक्षा परिणाम, तथा बड़े बड़े संखेयेकिक डाटा से सुचना प्राप्त करने के लिए तथा बड़े बड़े परिणाम के समीक्षा करने के लिए इसका प्रयोग होता है.

  • सुचनावो का आदान प्रदान (Exchange of Information)

कंप्यूटर का इस्तेमाल आज के समय में सुचनावो के आदान प्रदान के लिए किया जाता है या ये कहे की ये एक आसान तरीका बन गया है. Internet की मदत से हम कोई भी सुचना को एक जगह से दूसरी जगह बड़े ही आसानी से भेज सकते है.

  • शिक्षा (Education)

Computer का इस्तेमाल शिक्षा के Field में बहुत ही तेजी से बढ़ा है. आज कल डिजिटल लाइब्ररी का उपयोग किया जाता है साथ ही साथ E-book का इस्तेमाल कंप्यूटर में पढने के लिए किया जाता है. लगभग सभी स्कूल और बढ़े कॉलेज में इसका use किया जाता है.

  • बैंक (Bank)

Computer का उपयोग आज लगभग सभी बैंकों में – भुगतान, पासबुक एंट्री, ऑनलाइन बैंकिंग, तथा ATM सम्बंधित कार्यो के लिए किया जाता है.बिना कंप्यूटर के बिना आज बेंको की कल्पना नहीं कर सकते है .

  • चिकित्सा (Medicine)

आज कल चिकित्सा में मानव शारीर के अन्दर की बीमारी का पता लगाने के लिए Computer का इस्तेमाल किया जाता है जेसे – अल्ट्रासाउंड, सिटी स्केन, X-ray .

  • प्रशासन (Administration)

सरकार के कार्यो को जनता तक पहुचने तथा जनता से बेह्तर संबंध स्थापित करने तथा पारदर्शिता लेन के लिए सरकार द्वारा कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है. E-governance इसका उदाहरण है.

  • संचार (Communication)

Computer का use देश और विदेश के लोगो से संपर्क करने का एक अचूक माध्यम है, कंप्यूटर के इस्तेमाल से ही Teliphone, Mobile आदि सेवावों की कल्पना संभव जो पाई है.

  • प्रकाशन (Publishing)

Computer का use आज कल सभी प्रकार की छपाई के लिए आवश्यक बन गयी है, सुन्दर चित्र,किताबे, समाचार पत्र आदि की छपाई कंप्यूटर की सहयता से की जाती है.

  • Space Technology

कंप्यूटर का उपयोग अंतरिक्ष सम्बंधित जानकारी  प्राप्त करने के लिए किया जाता है. अंतरिक्ष के घटने वाली घटनावो पर नजर रखने के लिए तथा कृत्रिम उपग्रहों पे control बनाने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है.

  • व्यापार (Business)

आज के इस क्रन्तिकारी युग में Computer के बिना व्यापार की पारदर्शिता को परखने के लिए, चीजो की गिनती तथा मजदूरो के कार्यो का लेखा जोखा रखने के लिए Business में कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है.

कंप्यूटर का भविष्य ( Future of Computer ) क्या है

Computer में इंसानों के जैसा कार्य करने और खुद ही सोचे समझने की शक्ति का विकाश किया जा रहा है. हलाकि ये अभी अपने शुरुवाती चरण में है जिसे हम Artificial Intelligence के नाम से जानते है. जिसमे कंप्यूटर को दिन ब दिन प्रशिक्षित (Training) किया जा रहा है. ताकि Computer खुद से ही निर्णय ले सके और कार्य कर सके. आज कल जितने भी रोबोट बनाये जा रहे है सब Artificial Intelligence के एक उदहारण है. आने वाला भविष्य Computer Artificial Intelligence का होगा.

 

 

Conclusion

उम्मीद है आपको हमारा ये पोस्ट Computer kya hai hindi में (कंप्यूटर क्या है ) पसंद आया होगा. दोस्तों हमारी ये कोशिश है की आपको कंप्यूटर से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी आपकी अपनी भाषा hindi में दू . अब आप जान ही गये होंगे की kya hai Computer . अगर आपको technicalmiki.in का ये पोस्ट अच्छा लगा हो और हमने आपकी जानकारी को थोडा बहुत बढाया हो तो हमारे इस को जरुर Like और Share जरुर करे.  ( धन्यवाद् )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *